इंदौर : महू से बीजेपी प्रत्याशी उषा ठाकुर द्वारा अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय पर दिये गए बयान पर मचे बवाल के बीच विजयवर्गीय ने बोला है कि मैं इस बारे में अभी कुछ नहीं बोलूंगा.वैसे भी वे ठाकुर इतनी बड़ी नेता नहीं हैं कि मैं उनके बयान पर कोई रिएक्शन जाहीर करूं.

भाजपा एक अनुशासित संगठन यँहा संगठन जो तय करता है, वही सर्वोपरि होता है. इधर, कैलाश समर्थक नेताओं ने बोला कि जब उषा तीन नंबर से चुनाव लड़ी थीं तब कैलाश विजयवर्गीय ने ही उनकी मदद की थी. वहीं प्रदेश संगठन इस मामले को ज्यादा तूल देने के मूड में नहीं है, लेकिन चुनाव नतीजों के बाद इस मुद्दे पर टकराव बढ़ सकता है.

ये कह चुकी हैं ठाकुर –महू में कार्यकर्ताओं के साथ हुई एक मीटिंग में एक सवाल के जवाब में ठाकुर ने बोला था अब कांग्रेस पार्टी के बाद बीजेपी में भी वंशवाद घुसना प्रारम्भ हो चुका हैं.वही वह साफ कहती हुई नजर आई थी की महसचिव ने राष्ट्रिय अध्यक्ष को सेट करके मुझे महू भेजा है गौरतलब हैं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र आकाश इस बार चुनाव मैदान में है वो जिस विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं उस सीट पर पहले उषा ठाकुर विधायक थी परन्तु आकाश के आने के बाद उन्हें महू भेज दिया था.