मुंबई : लगाने वाले सबसे तेज एशियाई बन गई हैं वेदांगी ने रविवार को कोलकाता में तड़के साइकिल चलाकर इसके लिए महत्वपूर्ण 29,000 किलोमीटर की मानक दूरी को तय किया

उन्होंने इस सफर की आरंभ जुलाई में पर्थ से की थी  इस रिकार्ड को पूरा करने के लिए वह ऑस्ट्रेलिया के इस शहर में वापस जाएंगी

वेदांगी ने बताया कि उन्होंने 14 राष्ट्रों का सफर किया  159 दिनों तक प्रतिदिन लगभग 300 किलोमीटर साइकिल चलाती थी इस दौरान उन्हें कुछ ‘‘ अच्छे  बुरे’’ अनुभव हुए उनके पिता विवेक कुलकर्णी ने बताया संसार में कुछ ही लोगों ने इस कठिन चुनौती को पूरा किया है  उनकी बेटी संसार का चक्कर लगाने के मामले में सबसे तेज एशियाई है

ब्रिटेन की जेनी ग्राहम (38) के नाम स्त्रियों के बीच सबसे कम दिनों में साइकिल से चक्कर लगाने का रिकार्ड है जिन्होंने इसके लिये 124 दिन का समय लिया था यह रिकार्ड पिछले रिकार्ड से तीन हफ्तेकम था

इस अभियान को पूरा करने के दौरान वेदांगी को कई चुनौतियों को सामना करना पड़ा कनाडा में एक भालू उनका पीछे करने लगा था रूस में बर्फ से घिरी जगहों पर उन्होंने कई रात अकेले गुजारी तो वहीं स्पेन में चाकू की नोक पर उनसे लूटपाट हुई

ब्रिटेन के बॉउर्नेमाउथ विश्व विद्यालय की खेल प्रबंध की इस छात्रा ने बताया कि उन्होंने इसके लिए दो वर्ष पहले ही तैयारी प्रारम्भ कर दी उन्होंने साइकिल पर लगभग 80 फीसदी यात्रा को अकेले पूरा किया यात्रा के दौरान उन्होंने शून्य से 20 डिग्री कम से 37 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान को झेलना पड़ा इस दौरान वह ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, कनाडा, आइसलैंड, पुर्तगाल, स्पेन फ्रांस, बेल्जियम, जर्मनी, डेनमार्क, स्वीडन, फिनलैंड  रूस से होकर गुजरी