नई दिल्ली : हवाई यात्रियों  समुद्री यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक बड़ी अच्छी खबर है. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यात्रियों को जल्द ही इंडियन सीमा में उड़ान  समुद्री यात्रा के दौरान अपने मोबाइल से बात करने  इंटरनेट प्रयोग करने की सुविधा मिलेगी. गवर्नमेंट ने इस नियम को 14 दिसंबर को अपनी मंजूरी दे दी. जैसे ही सरकारी गजट में यह अधिसूचित हो जाएगा उसी दिन से लोगों को यह सुविधा मिलने लगेगी.

फ्लाइट मोड में करने की आवश्यकता नहीं
ख़ुशी की बात ये है की हवाई यात्रा के दौरान अब यात्रियों को अपना मोबाइल फ्लाइट मोड में करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. 3000 मीटर से अधिक ऊंचाई पर जाते ही मोबाइल पर यह सुविधा उपलब्ध होगी. इतनी ऊंचाई पर यह सेवा मिलने का कारण यह है कि जमीन पर विभिन्न ऑपरेटरों की सेवा इसमें व्यवधान पैदा न कर सकें. इंडियन सीमाओं के अंदर यह सेवा देने के नियम की मंजूरी दे दी गई.इसके अनुसार विदेशी कंपनी लाइसेंस प्राप्त किसी इंडियन कंपनी के साथ मिलकर मोबाइल इंटरनेट सेवा दे सकेगी. जानकारी के मुताबिक़ इस नियम का नाम उड़ान एवं सामुद्रिक – नौवहन संपर्क नियमावली – 2018 हो सकता है.

भारतीय, विदेशी विमानन  नौवहन सेवा प्रदाता कंपनियां इंडियन सीमा में परिचालन के समय हिंदुस्तान के लाइसेंस प्राप्त दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी के साथ मिलकर इस तरह की सेवाएं दे सकेंगी. वही आपको बता दे सेवा उपग्रह  भू-स्थित संपर्क सुविधाओं के जरिये दी जा सकेगी. इसमें विदेशी उपग्रह सुविधा की मदद लेने के लिए अंतरिक्ष विभाग की अनुमति लेनी होगी.