नई दिल्ली: देश में इस समय विधानसभा चुनाव की सरगर्मी चल रही है. जिससे दिन रोजाना चुनावी पार्टियों में नए नए खुलासे हो रहे हैं. जानकारी के अनुसार बता दें कि राजस्थान  तेलंगाना में 7 दिसंबर को चुनाव होने वाले हैं  इंडियन जनता पार्टी, कांग्रेस पार्टी  तेलंगाना देश समिति टीआरएस ने दोनों राज्यों में अपने अभियान को तेज कर दिया है. वहीं अपनी रैली के दौरान नारायणपेट में अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर हमला करते हुए बोला कि तेलंगाना में कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणापत्र में मस्जिद  चर्चों को मुफ्त बिजली देने का वादा किया लेकिन मंदिरों के लिए नहीं.

यहां बता दें कि टीआरएस  कांग्रेस पार्टी दोनों अल्पसंख्यकों को लुभाने में व्यस्त हैं. वहीं बता दें कि इस रैली के दौरान शाह ने बोला कि ओवैसी के भय के कारण, केसीआर गवर्नमेंट अब 17 सितंबर को लिबरेशन डे मनाती है. यदि बीजेपी राज्य में गवर्नमेंट बनाती है. यदि बीजेपी सत्ता में आती है तो हैदराबाद में लिबरेशन डे भव्य तरीके से मनाया जाएगा.

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बोला कि यह एक त्रिपक्षीय लड़ाई है. जहां एक तरफ केसीआर चंद्रशेखर राव हैं जिन्होने तेलंगाना को एमआईएमआईएम के आगे घुटने टेकने के लिए मजबूर किया है. तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी है जिसने सिद्धू को पाक वहां के सेनाध्यक्ष से गले मिलने के लिए भेजा. वहीं तीसरी तरफ पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले राष्ट्रवादी हैं. यहां बता दें कि 7 दिसंबर को आखिरी चुनाव राजस्थान  तेलंगाना में होना है  इसके लिए सभी पार्टियों के महान नेता जी जान से प्रचार कर रहे हैं. बता दें कि 11 दिसंबर को सभी पांच राज्यों के चुनाव का परिणाम आएगा.