नारसिंह ने मौत को गले लगाने से पहले एक सुसाइड नोट छोड़ा है. जिसमें उसने अपने उत्पीड़न का जिक्र किया है. साथ ही उसने नरेंद्र मोदी को लगातार देश के प्रधानमंत्री के रूप में देखे जाने की इच्छा जताई है.

हैदराबाद में एक प्राइवेट कंपनी के कर्मचारी ने उत्पीड़न से तंग आकर आत्महत्या कर ली. मरने से पहले मौके पर छोड़े गए एक सुसाइड नोट में उसने लिखा कि केवल नरेंद्र मोदी ही देश को बचा सकते हैं.

वारदात हैदराबाद के सैदाबाद की है. जहां 30 वर्षीय नुथालागंती नारसिंह ने अपनी कंपनी में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वह अपने सीनियर द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न से परेशान चल रहा था.

नारसिंह ने मौत को गले लगाने से पहले एक सुसाइड नोट छोड़ा है. जिसमें उसने अपने उत्पीड़न का जिक्र किया है. साथ ही उसने नरेंद्र मोदी को लगातार देश के प्रधानमंत्री के रूप में देखे जाने की इच्छा जताई है. उसने सुसाइड नोट में लिखा कि  केवल मोदी ही देश को बचा सकते हैं.

पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है. अब पुलिस उसके इंचार्ज की तलाश कर रही है. जबकि रिश्तेदारों और दोस्तों ने मृतक के शव को लेकर प्रदर्शन किया. वे इस केस में सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे थे.