महाराष्ट्र के नागपुर में बुधवार को एक एडवोकेट ने न्यायालय परिसर में सेशन जज को कथित तौर पर थप्पड़ जड़ दिया. पुलिस के मुताबिक, घटना डिस्ट्रिक्ट सेशन न्यायालय की सातवीं मंजिल पर लिफ्ट के बाहर हुई. वरिष्ठ सिविल जज केआर देशपांडे ने आरोप लगाया कि सहायक सरकारी एडवोकेटडीएम पराते ने उन्हें न्यायालय के बाहर थप्पड़ मार दिया. आरोपी एडवोकेट एक मामले में जज के निर्णय के बाद नाराज था.

सदर पुलिस स्टेशन के इंचार्ज सुनील बोंडे ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. फिल्हाल किसी को अरैस्ट नहीं किया गया है. इस बारे में जब जिले के सरकारी एडवोकेट नितिन तेलगोटे से बात की गई तो उन्होंने इसकी निंदा की. तोलगोटे ने बोला कि आरोपी को ऐसा नहीं करना चाहिए था. अगर उसे किसी बात से नाराजगी थी तो उसे उचित ढंग से शिकायत करनी चाहिए थी. समाज वकीलों से इस तरह के आचरण की उम्मीद नहीं करता