जब से योगी आदित्यनाथ उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री बने है उन्हें भाजपा के चुनावी अभियानों का स्टार प्रचारक भी बना दिया गया है। उनकी मास अपील की वजह से उन्हें सुनने देश के हर हिस्से में बड़ी भीड़ आती है। वर्तमान में तेलंगाना विधानसभा चुनावों के लिए चल रहे प्रचार अभियान में भी योगी ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। इसी दौरान उत्तरप्रदेश के सीएम ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) असदुद्दीन ओवैसी खूब हमले किये।

सीएम योगी ने इस दौरान हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी का जिक्र करते हुए कहा कि अगर तेलंगाना में बीजेपी की सरकार आती है तो ओवैसी को ठीक उसी प्रकार तेलंगाना छोड़ के भागना पड़ेगा, जैसे आज़ादी के बाद निजाम को हैदराबाद छोड़ के भागना पड़ा था। बता दें की आज़ादी के बाद हैदराबाद रियासत के निज़ाम पाकिस्तान में शामिल होना चाहते थे तब के गृह मंत्री सरदार पटेल ने उन्हें हैदराबाद छोड़ने पर मजबूर कर दिया था।

योगी आदित्यनाथ ने रविवार के दिन तेलंगाना में हैदराबाद के साथ साथ चार अन्य स्थानों पर भी जनसभाएं कीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार बनने पर यहाँ के हर नागरिक को सुरक्षा मिलेगी और साथ ही साथ किसी को भी यहाँ अराजकता फैलाने की छूट नहीं रहेगी। बता दें की तेलंगाना के चंद्रायनगुट्टा सीट से विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी आये दिन धार्मिक विद्वेष फैलाने वाले बयान देते रहते हैं जिससे यहाँ के बहुसंख्यक नाराज भी रहते हैं। इन्हीं को काउंटर करने हेतु योगी आदित्यनाथ ने ओवैसी को निज़ाम से जोड़ कर तेलंगाना से भगाने का बयान दिया है।

इसी मुद्दे पर बोलते हुए योगी आदित्य नाथ ने एक दूसरे जनसभा में कहा कि हैदराबाद का निजाम पाकिस्तान समर्थक था और हैदराबाद का विलय पाकिस्तान के साथ करवाना चाहता था । पर सरदार वल्लभ भाई पटेल की सख्ती ने निजाम को सबकुछ छोड़ कर पाकिस्तान भागने पर मजबूर कर दिया था। इसके साथ ही योगी ने कांग्रेस पर भी कटाक्ष करते हुए कहा की कांग्रेस ने पटेल का सम्मान नहीं किया साथ ही उन्होंने अम्बेडकर का भी अपमान किया।

योगी ने गाँधी परिवार के परिवारवाद को उजागर करते हुए कहा की कांग्रेस के शीर्षस्त पद पर सिर्फ गाँधी परिवार के लोग ही जा सकते हैं पर भाजपा में ऐसा नहीं है और यहाँ एक गरीब भी प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुँच सकता है।