आए दिन आने वाली क्राइम की खबरों ने सभी को दंग किया है ऐसे में हाल ही में जो मामला सामने आया है वह दंग कर देने वाला है इस मामले में मां की मौत के बाद से अकेली पड़ी किशोरी अपने जीजा के घर रहने चली गई लेकिन जीजा ने अपनी दरिंदगी मिटाने के लिए उसे अपना शिकार बना लिया इस मामले में साली के प्रेग्नेंट होने के बाद उसे लाचार बनाकर जीजा ने सड़क पर छोड़ दिया अंत में वह पुलिस थाने गई इस मामले में शिकायत करते हुए साली ने पुलिस को बताया कि, ”मेरी मां संसार छोड़कर चली गई मैं दीदी  जीजा के यहां रहने लगी, क्योंकि मैं भी हंस-खेलकर जिंदगी जी सकूं लेकिन मुझे क्या पता था कि जीजा  उसके साथी मेरे साथ गंदा कार्य करेंगे… प्रारम्भ से विरोध किया, बात-बात पर मेरे साथ मारपीट भी करते थे… ”

इसी के साथ आगे बात करते हुए फिर लड़की ने बताया कि, ”मेरी मां का देहांत हो गया है देहांत के बाद से परिवार पूरी तरह बिखर गया फिर भी मैंने हिम्मत नहीं हारी किसी तरह गुजर बसर करके अपना पेट पालने में लगी थी मेरी इस बेबसी पर दया करने की स्थान जीजा ने गलत लाभ उठाना प्रारम्भ कर दिया इसके चलते रायगढ़ में ही रहने वाली बहन के घर रहना गवारा नहीं था लेकिन मुझे नहीं पता था कि आदत से लाचार जीजा इतना वहशी हो जाएगा कि मुझे अपने साथियों के साथ उठा ले जाएगा मैं नहाकर निकली थी  वह मुझे उठाकर कानपुर ले गया वहां पहले जीजा ने मेरे साथ संबंध बनाए  फिर कहा, ”अब मेरे दोस्तों की प्यास बुझा दें”

उसके बादसभी हैवान मुझे भूखा-प्यासा रखकर 10 दिन तक ज्यादती करते रहे इसके बाद उसे ट्रेन बिठाकर फरार गए इस बीच निर्दयी जीजा मुझे दुर्ग रेलवे स्टेशन स्टेशन छोड़कर भाग गया तब मैं दुर्ग स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-2 पर बैठी मुझे जीआरपी स्टॉफ ने उठाया उसके बाद जीाआरपी ने चाइल्ड लाइन को सूचना दी चाइल्ड लाइन की टीम ने तत्काल सीधे चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के समक्ष पेश किया ” इस मामले में फिल्हाल सभी के विरूद्ध शिकायत दर्ज कर जांच की जा रही है