भारतीय सेना ने चाइना से सटी सीमा पर भारी बर्फबारी की वजह से फंसे हुए लगभग 2500 पर्यटकों को शनिवार को बचाया. सिक्किम में एक दिन पहले ही बर्फबारी प्रारम्भ हुई है. जिसकी वजह से नाथू ला दर्रा  17 किलोमीटर इलाके के बीच स्त्रियों  बच्चों सहित कई सारे यात्री फंसे हुए थे. सेना के एक ऑफिसर के अनुसार बचाव अभियान फिल्हाल जारी है.

रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार नाथू ला इलाके से लौटने के बाद 300 से 400 वाहन 17 किलोमीटर इलाके के नजदीक फंस गए थे. जिसके बाद सेना ने तुरंत बचाव अभियान प्रारम्भ किया.1500 लोगों को 17 किलोमीटर के आश्रय स्थल पर रखा गया है. बाकी के लोगों को 13 किलोमीटर के स्थल पर भेजा गया है. सभी पर्यटकों को खाना, दवा  गर्म कपड़े मुहैया करवाए गए हैं.

बर्फ हटाने के लिए सेना ने दो जेसीबी  बुलडोजर को कार्य पर लगाया है. सेना का कहना है कि जब तक सभी पर्यटक गंगटोक नहीं पहुंचते यह बचाव अभियान जारी रहेगा. सिक्किम में शुक्रवार को इस मौसम की पहली बर्फबारी हुई. मौसम विभाग के अनुसार, राज्य के ऊंचे इलाकों में बर्फ की मोटी चादर बिछ गई है. कुछ जगहों पर हल्की बारिश भी हुई. इसके कारण गंगटोक में न्यूनतम तापमान 6 डिग्री से नीचे आ गया है.