बुलंदशहर: बड़ी मात्रा में गोवंश के अवशेष मिलने के बाद भीड़ को नियंत्रण करते समय गोली का शिकार बने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को आज यहां पुलिस लाइन में श्रद्धांजलि अर्पित की गई, कल ही सुबोध कुमार की पत्नी का रोना सुनने के बाद वहां पर मौजूद हजारों लोगों की आंखे नम हो गई थीं

बुलंदशहर में स्याना के कोतवाल सुबोध कुमार सिंह की जिंदगी एक ही झटके में ख़त्म हो गई इसी के साथ पत्नी  बच्चों के हाथ से भी स्नेह  सुरक्षा की एक डोर भी छूट गई, उनकी पत्नी को इस बात की भनक तक न थी कि उनकी संसार उजड़ चुकी है पोस्टमार्टम हाउस पर वे जब इस सच से रू-ब-रू हुईं तो गश खाकर गिर पड़ीं, फिर बोलीं एक बार सिर्फ छू लेने दो  मेरे स्वामी अभी उठ बैठेंगेउनके इस विलाप को सुनकर हर एक का कलेजा धक् से रह गया, स्याना कोतवाल सुबोध कुमार सिंह की शहादत से पूरे पुलिस महकमे में शोक लहर है

कल इंस्पेक्टर सुबोध को गोली लगने की समाचार मिलते ही परिवार के लोग ग्रेटर नोएडा से बुलंदशहर पहुंच गए, उनकी पत्नी रजनी उर्फ सुनीता को पति की मृत्यु की जानकारी नहीं दी गई थीबुलंदशहर पहुंचने पर पोस्टमार्टम हाउस में इसकी जानकारी मिली वहां मौजूद लोगों ने किसी तरह उन्हें संभाला, रोते हुए वे कहने लगीं ‘वे छुट्टी लेना चाहते थे, लेकिन छुट्टी नहीं मिल सकी, यदि छुट्टी मिल जाती तो मेरा सुहाग उजडऩे से बच जाता’